Islamic knowledge

Dushman Se Bachne Ki Dua | Dar Aur Khauf Ki Dua

Dushman Se Bachne Ki Dua | Dar Aur Khauf Ki Dua

दुश्मन से बचने की दुआ

दोस्तों ! इस से पहले हमने ज़हरीले कीड़े मकोड़ों से बचने की दुआ बताई थी लेकिन आप को तो मालूम है कि हम जिस दुनिया में रहते हैं, वहां पर कभी कभार जानवरों से नहीं बल्कि इंसानों से बचने की ज़रुरत ज़्यादा महसूस होती है, क्यूंकि कुछ लोग इंसान की शक्ल में हैवान होते हैं बल्कि जानवरों से भी ज़्यादा गिरे पड़े होते हैं

कभी कभार जब आप कहीं सफ़र पर निकलते हैं तो रास्ते में, एअरपोर्ट पर, कस्टम पर इमीग्रेशन चेकिंग पर या किसी और जगह पर जो अधिकारी तैनात हैं उन में अक्सर लोगों को परेशान करते हैं

या कहीं पर पुलिस अपने ओहदे का ग़लत फ़ायदा उठाती है और सामने वाला परेशान हो जाता है या हुकूमत के अन्दर फ़िरऔनियत आ गयी है और वो किसी भी तरह के ज़ुल्म से बाज़ नहीं आती और उनका डर सब में क़ायम है

तो ऐसे में जब कि आप को किसी आम शख्स से डर हो, या एअरपोर्ट और कस्टम पर चेकिंग के दौरान परेशानी का अन्देशा हो, या पुलिस और हुकूमत से डर हो, या किसी भी तरह का खौफ़ आप के दिल में हो

तो जब ऐसे शख्स से सामना हो तो ये दुआ पढ़कर उसके पास पहुँचने से पहले उसकी तरफ़ रुख करके फूंक दें तो अल्लाह तआला उसकी आँखों पर पर्दा डाल देंगे

Dushman Se Bachne Ki Dua | Dar Aur Khauf Ki Dua

Dushman Se Bachne Ki Dua

आयत हिन्दी में

व जअल्ना मिम बैनी ऐदीहीम सद्दव व मिन खल्फिहीम सद्दन फ़अग शैनाहुम फहुम ला युब्सिरून

सूरह यासीन 36. आयत न. 9

Translation : और हम ने एक आड़ उनके आगे खाड़ी कर दी है और एक आड़ उनके पीछे खाड़ी कर दी है और इस तरह उन्हें हर तरफ़ से ढांक लिया है जिस के नतीजे में उन्हें कुछ सुझाई नहीं देता

जिस बन्दे से खतरा है या किसी भी तरह का डर है तो ये दुआ उसकी तरफ़ पढ़ अगर आप फूंक देंगे तो वो आप को परेशान नहीं कर पायेगा और उसकी आँखों पर इंशाअल्लाह पर्दा पड़ जायेगा

अल्लाह त आला हम सबको ज़ालिमों के ज़ुल्म और दुश्मनों के शर से नजात दिलाये
आमीन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button